'Shycart' है तो शर्माना कैसा? अब खरीदारी करने की भरपूर आज़ादी


नवंबर, 2012 में शुरू हुआ Shycart

हर महीने व्यस्कों के 600 से ज्यादा उत्पाद बिकते हैं

चेन्नई से चल रहा है कंपनी का कारोबार

0

पहले के मुकाबले हमारे समाज में भले ही ज्यादा खुलापन आ गया हो लेकिन अब भी बात जब अंतर्वस्त्र की होती है तो हम उसको लेकर शर्माते हैं। लेकिन ई-कामर्स के बाजार ने इस काम को भी आसान कर दिया है जहां पर कोई भी व्यस्क अपनी पसंद के अंतर्वस्त्र खरीद सकता है और दुकान में जाकर झिझकने की जरूरत भी नहीं होती। लोगों की इसी झिझक को दूर करने के लिए ई-कामर्स के बाजार में Shycart है। जो अपने यहां विभिन्न तरह के उत्पाद खरीदने की आजादी देता है।

Shycart की स्थापना अरुल ओली और विवेक ने मिलकर की। दोनों ने एक ही कॉलेज चेन्नई के क्रिसेंट इंजीनियरिंग कॉलेज से पढ़ाई की। नवंबर, 2012 में Shycart को शुरू करने से पहले अरुल ओली साल 2007 से ऑयल कन्सल्टिंग ग्रुप में काम करते थे। इसके अलावा उन्होने ‘मद्रास लाइट’ की स्थापना भी की थी। जो एक थियेटर और फिल्म प्रोडक्शन हाउस था। जबकि विवेक ने विभिन्न उद्यमों में काम किया था और अपना उद्यम शुरू करने से पहले वो डेढ़ साल तक एमआरएन इंफोटेक के साथ जुड़े थे।

Shycart की शुरूआत की वजहों के बारे में ओली का कहना है कि जरूरत के कारण इसे शुरू किया गया। उनके मुताबिक विवेक इस तरह का विचार लेकर उनके पास आये थे जो उनको भी काफी पसंद आया। ओली तभी जान गये थे कि इस विचार में काफी संभावनाएं हैं। वो जानते थे कि शर्म की वजह से बहुत सारे लोगों को Shycart में मिलने वाले उत्पाद को खरीदने में दिक्कत होती थी। लेकिन ई-कॉमर्स के कारण अब ये आसान हो गया है।

इस क्षेत्र में Shycart के अलावा Zivame, Shopimagine जैसी कई कंपनियां काम कर रही हैं। लेकिन Shycart अपनी वधिता के कारण इन सबसे अलग है। ये लोग सिर्फ अंतर्वस्त्र का कारोबार ही नहीं करते बल्कि वयस्क लोगों के मनोरंजन का सामान भी बेचते हैं। इनके बेचे जाने वाले उत्पाद में पुरुषों के अलावा महिलाओं से जुड़े उत्पाद भी बेचे जाते हैं। इसके अलावा कोई ग्राहक किसी मसले पर इनसे बात करना चाहे तो उसके लिए भी इनकी वेबसाइट पर इंतजाम है। जहां पर ये लोग ग्राहकों के प्रश्नों का जवाब देते हैं।

कंपनी के सह-संस्थापक ओली का कहना है कि इनको लोगों की जबरदस्त प्रतिक्रियाएं मिली हैं। यही वजह है कि ये लोग तकरीबन हर रोज नये उत्पाद और सेवाओं को जोड़ रहे हैं। ये लोग स्वास्थ्य से जुड़े कई और उत्पाद के अलावा कॉस्मेटिक उत्पाद भी जोड़ने जा रहे हैं। कंपनी हर महिने 600 से ज्यादा उत्पाद बेचती है और हर उत्पाद की औसतन कीमत 700 रुपये के आसपास होती है। खास बात ये है कि इनके 40 प्रतिशत से ज्यादा ग्राहक ऐसे हैं जो इनके उत्पादों का पहले भी इस्तेमाल कर चुके होते हैं और दोबार इनके पास खरीदारी के लिए आते हैं। फिलहाल इनकी टीम में 8 लोग हैं और कारोबार का दायरा बढ़ाने के लिए इनकी नजर निवेश के रास्ते तलाशने पर है।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...