महात्मा गाँधी पर ई-बुक टैबलेट पढ़ाएगा गुजराती और हिन्दी में किताबें

0

महात्मा गांधी पर लिखी गयी किताबों को लोकप्रिय बनाने और लोगों के पढ़ने के बदलते तरीकों के साथ चलने का प्रयास करते हुए शहर के एक न्यास ने अपना टैबलेट बाजार में लाने का फैसला लिया है, जिसकी मदद से लोग राष्ट्रपिता के बारे में गुजराती और हिन्दी भाषाओं में पढ़ सकेंगे।

नवजीवन न्यास किंडल जैसा ई-बुक टैबलेट लाने की योजना बना रहा है। इसमें महात्मा गांधी पर लिखी 170 किताबें होंगी जिन्हें लोग गुजराती और हिन्दी भाषा में पढ़ सकेंगे। नवजीवन न्यास के प्रबंध न्यासी विवेक देसाई ने आज गांधीजी द्वारा 1909 में लिखी पुस्तक ‘हिन्द स्वराज’ के चार ई-बुक संस्करणों सहित किताब के 10 संस्करणों का विमोचन करते हुए यह घोषणा की।

गांधीजी द्वारा 1919 में स्थापित नवजीवन न्यास अभी तक उनकी 170 पुस्तकों का 10,500 ऑनलाइन संस्करण बेच चुका है।देसाई ने कहा कि इन्हीं आंकड़ों को देखते हुए न्यास ने किंडल की भांति विशेष टैबलेट लांच करने की योजना बनायी है। (पीटीआई)