दीपा को कार नहीं, कार के बदले रुपए चाहिए

हैदराबाद जिला बैडमिंटन संघ के अध्यक्ष चामुंडेश्वरनाथ ने उन्हें उनके प्रदर्शन के लिये बीएमडब्ल्यू कार भेंट दी थी। दीपा को महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने सम्मान समारोह में रियो ओलंपिक की पदक विजेता पीवी सिंधु और साक्षी मलिक के साथ कार की चाबियां सौंपी थीं।दीपा रखरखाव की दिक्कत के कारण अपनी लग्जरी कार वापस करना चाहती हैं क्योंकि अगरतला की सड़कें बीएमडब्ल्यू के लिये काफी संकरी हैं और शहर में बीएमडब्ल्यू गाड़ी का एक भी शोरूम या सर्विस सेंटर नहीं है।

0

अगरतला में लग्जरी कार के रखरखाव की दिक्कत व्यक्त करने के बाद भारतीय जिमनास्ट दीपा करमाकर ने अनुरोध किया है कि उन्हें इस वाहन के बजाय इसकी कीमत का नकद पुरस्कार दे देना चाहिए लेकिन उन्हें यह वाहन भेंट करने वाली संस्था ने इस मामले पर ‘गौर’ करने का वादा किया है। करमाकर ने रियो ओलंपिक के लिये क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय महिला जिमनास्ट बनकर इतिहास रच दिया था और वह अपनी वाल्ट स्पर्धा में चौथे स्थान पर रही थीं।

हैदराबाद जिला बैडमिंटन संघ के अध्यक्ष चामुंडेश्वरनाथ ने उन्हें उनके प्रदर्शन के लिये बीएमडब्ल्यू कार भेंट दी थी। दीपा को महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने सम्मान समारोह में रियो ओलंपिक की पदक विजेता पीवी सिंधु और साक्षी मलिक के साथ कार की चाबियां सौंपी थीं।दीपा रखरखाव की दिक्कत के कारण अपनी लग्जरी कार वापस करना चाहती हैं क्योंकि अगरतला की सड़कें बीएमडब्ल्यू के लिये काफी संकरी हैं और शहर में बीएमडब्ल्यू गाड़ी का एक भी शोरूम या सर्विस सेंटर नहीं है।

इस 23 वर्षीय खिलाड़ी के कोच बी नंदी ने भी कहा कि उन्होंने भी आग्रह किया कि कार के बराबर की कीमत दीपा के खाते में ट्रांसफर कर दी जानी चाहिए। चामुंडेश्वरनाथ ने कहा कि वह जिमनास्ट से बात करेंगे कि उन्हें वाहन से संबंधित किन दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। चामुंडेश्वरनाथ ने पीटीआई से कहा, ‘‘हम उससे बात करेंगे। दीपा जिसमें भी सहज महसूस करे हम उस पर गौर करेंगे, अगर उन्हें बीएमडब्ल्यू नहीं चाहिए। ’’ चामुंडेश्वरनाथ ने कहा, ‘‘खिलाड़ियों को कार उपहार में देने के पीछे उन्हें बेहतर प्रदर्शन करने के लिये प्रेरित करना था। ’

दीपा के पिता दुलाल करमाकर ने पीटीआई से कहा कि दीपा और उनके कोच बी एस नंदी ने मिलकर कार लौटाने का फैसला किया क्योंकि अगरतला में उसका सर्विस सेंटर नहीं है। दीपा के पिता ने अगरतला से कहा, ‘‘हम बीएमडब्ल्यू कार लौटाना चाहते हैं। अगरतला में बीएमडब्ल्यू कार का कोई सर्विस सेंटर नहीं है। किसी भी तरह की तकनीकी खामी के लिये हमें कोलकाता जाना पड़ेगा और उसका पूरा खर्चा हमें उठाना होगा। ’’ करमाकर ने हालांकि इसका खंडन किया कि वे इसलिए कार लौटाना चाहते हैं क्योंकि त्रिपुरा में सड़कों की स्थिति अच्छी नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘यहां सड़कें अच्छी हैं। हो सकता है कि वे दिल्ली या कोलकाता की तरह चौड़ी नहीं हो लेकिन बीएमडब्ल्यू कार यहां चल सकती है। ’’ करमाकर ने कहा कि उन्होंने धनराशि देने के लिये इसलिए कहा क्योंकि इससे वे मारूति सुजुकी या हुंदेई कार खरीद सकते हैं जिसके यहां सर्विस सेंटर और शोरूम भी हैं।

दीपा करमाकर रखरखाव की दिक्कत के कारण अपनी लग्जरी कार वापस करना चाहती है लेकिन उन्हें यह बीएमडब्ल्यू कार भेंट करने वाले हैदराबाद जिला बैडमिंटन संघ के अध्यक्ष चामुंडेश्वरनाथ ने कहा कि इस वाहन को लेकर जो भी दिक्कतें आ रही हैं उस संबंध में वह इस जिम्नास्ट से बात करेंगे। चामुंडेश्वरनाथ ने कहा, ‘‘हम उससे बात करेंगे। दीपा जिसमें भी सहज महसूस करे हम उस पर गौर करेंगे, अगर उन्हें बीएमडब्ल्यू नहीं चाहिए। ’’ दीपा ने संकेत दिये कि उन्हें बीएमडब्ल्यू कार के रखरखाव में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। यह कार उन्हें दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने सौंपी थी। चामुंडेश्वरनाथ ने कहा, ‘‘खिलाड़ियों को कार उपहार में देने के पीछे उन्हें बेहतर प्रदर्शन करने के लिये प्रेरित करना था। ’’ रियो ओलंपिक की पदक विजेता पीवी सिंधु और साक्षी मलिक के अलावा मामूली अंतर से पदक चूकने वाली दीपा को भी चामुंडेश्वरनाथ ने कार भेंट की थी