दो साल में आएगा ‘जीटीआईओ’ पहला उच्च तकनीकी उत्पाद

‘जीटीआईओ’ टाटा कंपनी की तकनीकी शोध इकाई

0

पीटीआई

नमक से लेकर सॉफ्टवेयर तक बनाने वाली कंपनी टाटा संस का ग्रुप टेक्नॉलजी एंड इनोवेशन ऑफिस ‘जीटीआईओ’ अपने चार उच्च तकनीकी उत्पादों में से एक की वाणिज्यिक पेशकश अगले दो साल में करेगा।

जीटीआईओ के अधिकारी गोपीचंद कटरागड्डा ने पीटीआई को बताया कहा, ‘‘ जिन सभी उत्पादों पर हम काम कर रहे हैं, उन्हें अंजाम तक पहुंचाने में तीन से पांच साल का वक़्त लगेगा। आप पहली पेशकश अगले दो साल में देखेंगे।’’

गोपीचंद ने बताया कि जीटीआईओ चार विशेष उत्पादों पर काम कर रहा है। इनमें औद्योगिक कर्मचारियों के लिए एक स्मार्टवाच जिसका परीक्षण टाटा स्टील के कर्मचारियों पर किया गया है, एक ड्रोन आधारित कीटनाशक छिड़काव प्रणाली, एक कारखाना एवं बेड़ा विश्लेषण प्रणाली और ग्रैफीन नाम की एक उन्नत सामग्री का विकास शामिल है।

शोध एवं विकास पर खर्च करने वाली टाटा देश की सबसे बड़ी कंपनी है। पिछले साल इसने अपनी 110 अरब डॉलर की आय कर 2.7 प्रतिशत शोध एवं विकास एवं नवोन्मेष पर खर्च किया था।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...