स्वागतम 2018: खुशियों से महमहा उठेगी आज की आधी रात  

0

 1 जनवरी को ही क्यों नया साल मनाते हैं? 1 जनवरी से शुरू होने वाले कैलेंडर को ग्रिगोरियन कैलेंडर के नाम से जाना जाता है, जिसकी शुरूआत 15 अक्टूबर 1582 में हुई। 

नए साल में भारत 10 जनवरी को आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित अपने अंतरिक्ष केंद्र से पृथ्वी अवलोकन उपग्रह काटरेसैट सहित 31 उपग्रहों का प्रक्षेपण करने जा रहा है।

हर आदमी इस उम्मीद के साथ इस साल में प्रवेश करता है कि ये साल उसके लिए अच्छा गुजरे. इसलिए अच्छे-अच्छे मैसेज, कोट्स और ग्रीटिंग्स एक दूसरे को लोग भेजते हैं और उसके लिए अच्छी भविष्य की कामना करते हैं। 

वक्त की हथेली से हमेशा के लिए आज फिसला जा रहा वर्ष 2017, साल की अंतिम तारीख इतिहास होने के ओर क्षण-क्षण उन्मुख, और कुछ घंटे दूर नया साल 2018, अतीत से सबक लेते हुए आने वाले वक्त पर हमारी निगाहें सधी रहें, यही हो भविष्य का सबसे सुंदर सपना...वरना तो 'समय की शिला पर मधुर चित्र कितने, किसी ने बनाए, किसी ने मिटाए...' आज रात जैसे ही घड़ी की सुई 12 बजाएगी, आतिशबाजी के साथ नए साल का स्वागत शुरू हो जाएगा। कहीं मुंबई के अभिनेता तो कहीं दिल्ली नेता भी जाते-आते वर्षों के सुखद एहसास में डूबने के लिए बेकरार। और आज साल के आखिरी दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 39वीं बार मन की बात कर रहे हैं।

जब आप पुराने साल को विदा करने और नववर्ष की खुशियां शेयर करने ही जा रहे हैं तो इस सवाल का भी जवाब जान लें कि 1 जनवरी को ही क्यों नया साल मनाते हैं? 1 जनवरी से शुरू होने वाले कैलेंडर को ग्रिगोरियन कैलेंडर के नाम से जाना जाता है, जिसकी शुरूआत 15 अक्टूबर 1582 में हुई। इस कैलेंडर की शुरुआत ईसाईयों ने क्रिसमस की तारीख निश्चित करने के लिए की क्योंकि ग्रिगोरियन कैलेंडर से पहले 10 महीनों वाला रूस का जूलियन कैलेंडर प्रचलन में था लेकिन इस कैलेंडर में कई गलतियां होने की वजह से हर साल क्रिसमस की तारीख कभी भी एक दिन में नहीं आया करती थी।

इसी वजह से अमेरिका के नेपल्स के फिजीशियन एलॉयसिस लिलिअस ने एक नया कैलेंडर प्रस्तावित किया। रूस के जूलियन कैंलेंडर में कई सुधार हुए और इसे 24 फरवरी को राजकीय आदेश से औपचारिक तौर पर अपना लिया गया। यह राजकीय आदेश पोप ग्रिगोरी ने दिया था, इसीलिए उन्हीं के नाम पर इस कैलेंडर का नाम ग्रिगोरियन रखा गया, जो 15 अक्टूबर 1582 को जारी कर दिया गया। आज यही ग्रिगोरियन कैलेंडर पूरी दुनिया में मशहूर है और इसी में मौजूद पहले दिन यानि 1 जनवरी को नया साल मनाया जाता है।

हर आदमी इस उम्मीद के साथ इस साल में प्रवेश करता है कि ये साल उसके लिए अच्छा गुजरे. इसलिए अच्छे-अच्छे मैसेज, कोट्स और ग्रीटिंग्स एक दूसरे को लोग भेजते हैं और उसके लिए अच्छी भविष्य की कामना करते हैं। अधिकतर लोग नया साल अपने अपनों के साथ मनाते हैं, लेकिन कई बार ऐसा होता है कि हम अपनों के साथ नहीं मना पाते हैं. इसलिए ऐसे में एसएमएस भेज सकते हैं और नए साल की बधाई दे सकते हैं। गोवा का 105 किलोमीटर लंबे तटीय इलाका तो शुक्रवार की रात से ही पार्टी के रंग में सराबोर है। नव वर्ष को मनाने के लिए इस साल अधिक पर्यटक यहां पहुंचे हैं। समुद्र के तट पहले ही पर्यटकों से अटे पड़े हैं।

यहां कसीनों आने वाले लोगों की संख्या में पिछले साल की तुलना में 40 प्रतिशित की बढ़ोत्तरी दर्ज हुई है। ऐसे में हमारे फिल्मी हीरो भला कैसे सर्द रह सकते हैं। उन्होंने भी अपने बैग पैक कर लिए हैं और वो अपना नया साल मनाने के लिए जा पहुंचे हैं अपनी पसंदीदा जगह। आमिर खान गोवा में अपने परिवार के साथ नया साल मनाने जा रहे हैं। यहीं वो अपनी शादी की सालगिरह को भी सेलिब्रेट करेंगे। करीना कपूर खान पति सैफ अली खान और बेटे तैमूर के साथ स्टिवट्जरलैंड में हैं, जहां यह स्टार कपल नए साल का स्वागत करेगा। अक्षय कुमार पत्नी ट्विंकल खन्ना और बच्चों के साथ केप टाउन में अपना नया साल मनाने जा रहे हैं।

सोनम कपूर लंदन में अपने कथित ब्वॉयफ्रेंड आनंद आहूजा के साथ नए साल के मौके पर मौजूद रहने वाली हैं। सबसे मजेदार सूचना तो यह है कि दीपिका और रणवीर न्यू ईयर सेलिब्रेट करने के लिए श्रीलंका रवाना हो गए हैं। वैसे अभी कुछ दिनों पहले खबर आई थी कि दोनों के बीच कुछ अनबन चल रही है और दोनों अब साथ में नहीं हैं। हालांकि फिर भी दोनों को साथ में कई बार स्पॉट किया गया।

तो आज के दिन कुछ और भी नए-पुराने सुख-दुख की बातें हो जाएं। नए साल की ओर बढ़ते हुए सुखद है कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के निदेशक देवी प्रसाद कार्निक का कहना है कि नए साल में भारत 10 जनवरी को आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित अपने अंतरिक्ष केंद्र से पृथ्वी अवलोकन उपग्रह काटरेसैट सहित 31 उपग्रहों का प्रक्षेपण करने जा रहा है। 2018 के इस पहले अंतरिक्ष अभियान के तहत पोलर सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल (पीएसएलवी-सी440) के जरिए 31 उपग्रह लॉन्च किए जाएंगे। सुखद यह भी रहा कि वर्ष 2017 में पूरे साल सोने-चांदी ने जमकर चमक बिखेरी। साल के आखिरी दिनों में सोना 30400 रुपये/10 ग्राम, तो चांदी 39980 रुपये किलो रही।

इस तरह सोना-चांदी की कीमतें इस एक महीने के उच्चतम स्तर पर रहीं। साल के चलते-चलाते इस खुशखबरी में आज एक और बात शुमार हुई यह कि नई-नई कारों के बाजार में निसान और डेटसन पर बड़ा डिस्‍काउंट दिया रहा है। कहा जा रहा है कि आज ही खरीद लें ये कारं, मिल रहा है 77000 का डिस्काउंट। एक और मजेदार ताजा सूचना। सिर्फ आज के दिन 31 दिसंबर 2017 को 9999 रुपए में मिल रही है 32 इंच की स्मार्ट टीवी 8000 डिस्कांउट के साथ।

इस साल की एक अनोखी सी खुशखबरी खेल प्रेमियों के रही कि विराट कोहली ने अनुष्का से तो शादी रचाई ही, वह पूरे साल के शहंशाह रहे। पारी 'विराट' से शुरू और खत्म भी 'विराट पारी' से ही हुई। यद्यपि इसके लिए केपटाउन मैच से पहले विराट एंड कंपनी ने काफी पसीना बहाया। यह भी गौरतलब है कि शादी के बाद विराट कोहली ने पहली बार बल्ला थामा।

कई और भी सुखद-सुखद बातें गुजरते 2017 के आखिरी दिन। पिछले काफी समय से तमिलनाडु के सुपरस्टार रजनीकांत के राजनीति में आने के कयास लगाए जा रहे थे, आज उन्होंने अपने राजनीति में आने का ऐलान कर ही दिया। उन्होंने चेन्नई स्थित राघवेंद्र कल्याण मंडपम में राजनीति में अपनी नई पारी खेलने की घोषणा की। रजनीकांत के पार्टी में ऐलान के बाद उनके फैंस में खुशी की लहर दौड़ गई है। राघवेंद्र कल्याणा मंडपम के बाहर उनके समर्थक और प्रशंसक जश्न मना रहे हैं। साल 2017 मुकेश अंबानी के लिए बहुत ही फायदेमंद रहा है।

यहां एक तरफ रिलायंस जियो ने इस वर्ष टेलीकॉम इंडस्ट्री में सफलता के झंडे गाड़ दिए वहीं दूसरी ओर भारत के टॉप-10 अरबपतियों की बात करें तो अंबानी से ज्‍यादा किसी की दौलत नहीं बढ़ी। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि नए साल में अंबानी कुछ नए बिजनेस में प्रवेश कर नया धमाका कर सकते हैं। उन्‍होंने हाल में रिलायंस इंडस्ट्रीज की 40वीं वर्षगांठ के मौके पर ऐसा ही कुछ इशारा किया था। पिछले दिनों जियो पेमेंट बैंक को अक्‍टूबर 2017 में लांच करने की योजना थी। लेकिन कुछ तकनीकी दिक्कतों के कारण Jio पेमेंट बैंक को अब 2018 में लांच किया जाएगा। इस बैंक के लांच होने से मोदी सरकार की कैशलेश योजना को बढ़ावा मिलेगा।

रिलायंस इंडस्ट्रीज पेमेंट बैंक को देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई के साथ मिलकर लांच करेगी। यह भी उम्मीद जताई जा रही कि कंपनी आने वाले साल में ओला और उबर की तरह अपनी टैक्सी सर्विस लांच कर सकती है। इसकी चर्चा तो पिछले काफी समय से चल रही है। रिन्‍यूएबल एनर्जी के बढ़ते दायरे के बीच अंबानी इसमें भी दांव आजमा सकते हें। आरआईएल की 40वीं सालगिरह के मौके पर मुकेश अंबानी ने आर.आई.एल. के कर्मचारियों के साथ सवाल जवाब के दौरान कहा था कि अगली सदी क्‍लीन एनर्जी की सदी होगी। ऐसे में यह उम्मीद भी की जा रही है कि आर.आई.एल. नए साल में सोलर एनर्जी के क्षेत्र में प्रवेश करने की घोषणा कर सकती है।

नए साल से ढेरों उम्मीदें लगाए लोगों के लिए कई बातें उनके बड़े काम की हो सकती हैं। इसी बीच एक सुझाव सेहत को लेकर आता है। स्वास्थ्य विज्ञानी आगाह करते हैं कि वर्ष 2018 में अपनी हेल्थ और फिटनेस से जुड़े 10 रेजोल्यूशन जरूर ले लें। इन पर अमल कर पूरे साल फिट और हेल्दी रहें। नियमित रूप से 8-10 गिलास पानी का सेवन प्रतिदिन जरूर करें। इसके अलावा लिक्विड डाइट भी खाने में जरूर शामिल करें। कैफीन का खुराग लेते समय इसके इस्तेमाल का खास ध्यान रखें। ज्यादा सेवन से नर्वसनेस, व्यग्रता, अनियमित दिल की धड़कन आदि समस्या होने का खतरा रहता है। शुगर का इस्तेमाल भी नियंत्रित मात्रा में करें।

यदि आप खुद को फिट रखने के लिए मोटापे से छुटकारा पाना चाहते हैं तो संतुलित मात्रा में पौष्टिक आहार लेना शुरू करें। अगर आप ओवरवेटेड हैं तो आने वाले साल में इसे कंट्रोल करने का भी रेजोल्यूशन लें। नए साल पर खुद को धूम्रपान यानी स्मोकिंग और ड्रिंकिंग यानी अल्कोहल के सेवन से दूर रहने का भी संकल्प लें। नियमित मात्रा में विटामिन और मिनरल्स का सेवन करें। नियमित रूप से एक्सरसाइज करना भी हेल्दी और फिट रहने के लिए जरूरी है। यह भी ध्यान रखें कि सेल्फ मेडिकेशन का अर्थ है स्वत: चिकित्सा। बदलती जीवनशैली में हेल्थ चेकअप अवश्य कराते रहें।

पुराने साल से गुजरते हुए दुखद है कि केंद्र सरकार ने मान लिया है, वित्त वर्ष 2016-17 के दौरान आर्थिक विकास दर में गिरावट आई है। हमारी अर्थव्यवस्था की रफ्तार धीमी पड़ी है। यह जानकारी लोकसभा में केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने दी। यह बात आने वाले वर्ष के लिए एक बड़ी चुनौती जैसा संदेश देती है। देश की राजधानी में साल के आखिरी दिन की सुबह घने कोहरे से लिपटी नजर आई। 

इस कदर घना कोहरा छाया गया कि कई जगहों पर विजिबिलिटी जीरो नजर आई। दुनिया की ओर रुख करें तो आज आखिरी दिनों में ईरान की कमजोर होती अर्थव्यवस्था के खिलाफ राजधानी तेहरान में प्रदर्शनकारियों का सबसे बड़ा हुजूम उमड़ पड़ा। प्रदर्शनकारियों में बड़ी तादाद में कॉलेज स्टूडेंट और युवा शामिल थे। इसी बीच एक और खबर सुर्खियों में उतर गई। अमेरिका ने ऐलान कर दिया कि पाकिस्तान को वह 25 करोड़ डॉलर की मदद रोकने जा रहा है। उधर, नॉर्थ कोरिया की धमकी एक बार फिर पूरी दुनिया में गूंजी कि वह नए साल में भी न्यूक्लियर टेस्ट जारी रखेगा।

पूरे देश, दुनिया में आज के दिन गुजरते 2017 की विदाई और नए साल की अगवानी का माहौल बिखरा पड़ा है। मथुरा में भगवान कृष्ण के साथ नया साल मनाने के लिए लाखों भक्त मथुरा पहुंच रहे हैं। गोवर्धन और वृंदावन में तो भारी भीड़ है। सभी होटल, गेस्ट हाउस और धर्मशालाएं फुल हो चुकी हैं। रेलवे स्टेशन पर भी लोगों की भीड़ दिख रही है। आज 31 दिसंबर को लोग बड़ी संख्या में परिक्रमा लगाएंगे। नया वर्ष कल्याणकारी और उन्नतिकारक होगा। नए साल का स्वागत इस बार पंच महायोग के संयोग से होगा। वर्ष 2001 के बाद यह पहला अवसर है, जब वर्ष की शुरूआत इस महायोग के साथ होगी।

पंडितों का कहना है यह आने वाला साल 1990, 2001 और 2007 की तरह होगा। साल की शुरूआत सोमवार से हो रही है। इस दिन शुक्ल और आनंद योग भी है। साथ ही अमृत, सिद्धि और स्वार्थ सिद्धि के योग भी बन रहे हैं। ऐसे में ये पांच महासंयोग नए साल को पहले के सालों में बेहतर बना रहे हैं। एक जनवरी को शुक्र-शनि और सूर्य लग्न भाव में रहेंगे। सूर्य भी भाग्येश होकर लग्न में बैठे हैं जिसे हिंदू धर्मग्रंथों के मुताबिक काफी शुभ संकेत माना जाता है। 

ऐसा संयोग बहुत कम होता है जब लगभग सभी स्नान पर्व एक ही माह में होते हैं लेकिन 2018 में महाशिवरात्रि को छोड़कर पांच स्नान पर्व जनवरी में ही पड़ेंगे। 14 जनवरी की रात 7.45 बजे वृहस्पति अपनी राशि धनु छोड़कर शनि की राशि मकर में प्रवेश करेंगे। इसलिए उदया तिथि के अनुसार मकर संक्रांति का पर्व 15 जनवरी को मनाया जाएगा। मकर संक्रांति के दिन भोर में 4.52 बजे माघी अमावस्या शुरू हो जाएगी।

यह भी पढ़ें: दूधवाले का बेटा हुआ भारतीय क्रिकेट वर्ल्डकप टीम में शामिल

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...

पत्रकार/ लेखक/ साहित्यकार/ कवि/ विचारक/ स्वतंत्र पत्रकार हैं। हिन्दी पत्रकारिता में 35 सालों से सक्रीय हैं। हिन्दी के लीडिंग न्यूज़ पेपर 'अमर उजाला', 'दैनिक जागरण' और 'आज' में 35 वर्षों तक कार्यरत रहे हैं। अब तक हिन्दी की दस किताबें प्रकाशित हो चुकी हैं, जिनमें 6 मीडिया पर और 4 कविता संग्रह हैं।

Related Stories

Stories by जय प्रकाश जय