अब सामान की डिलीवरी के बाद भी कर सकते हैं डिजिटल भुगतान

ई-कॉमर्स कंपनियों ने शुरु की डिजीटल भुगतान की सुविधा। 

0

500 और 1000 के नोटों पर बैन लगने के बाद स्नैपडील जैसी ई-कॉमर्स कम्पनियां सामान की डिलीवरी होने पर ग्राहकों को नकदी के बजाय डिजिटल भुगतान के विकल्पों का इस्तेमाल करने की अनुमति दे रही हैं।

इससे पहले, डिजिटल भुगतान के विकल्प केवल सामान का आर्डर करते समय ही उपलब्ध थे, लेकिन अब ई-कामर्स कंपनियां सामानों की डिलीवरी होने के बाद कार्डों और मोबाइल बटुए के जरिए भुगतान स्वीकार कर रही हैं।

इस कदम का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि सामानों की डिलीवरी पर नकदी भुगतान का विकल्प चुनने के इच्छुक ग्राहक कहीं और न जाएं।

500 और 1000 रुपये की पुरानी नोटों का चलन बंद करने के सरकार के निर्णय के बाद अमेजन और पेटीएम जैसी कंपनियों को कैश ऑन डिलीवरी सेवा रोकनी पड़ी थी, जबकि फ्लिपकार्ट और स्नैपडील ने इस तरह के आर्डरों पर 1000 रुपये और 2,000 रुपये की सीमा तय कर दी।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...