"गंगा मां हैं तो राइन पिता", जर्मनी जुड़ेगा गंगा नदी सफाई योजना में...

जर्मनी ने गंगा नदी के एक हिस्से को साफ करने का प्रस्ताव कियाउत्तराखंड में गंगा नदी के एक हिस्से को पुनर्जीवित करने का करेगा प्रयासराइन नदी को यूरोप में सबसे महत्वपूर्ण जलमार्गो में से एक माना जाता है"राइन पिता के समान हैं और गंगा मां हैं’’

0

पीटीआई

निर्मल गंगा अभियान का हिस्सा बनने की इच्छा व्यक्त करते हुए जर्मनी ने अपने यहां राइन नदी को साफ करने में उपयोग की गई प्रौद्योगिकी को उत्तराखंड में गंगा नदी के एक हिस्से के पुनर्जीवन में प्रयोग करने की पेशकश की है । राइन नदी को यूरोप में सबसे महत्वपूर्ण जलमार्गो में से एक माना जाता है।

जर्मनी में भारतीय समुदाय के चुनिंदा लोगों को संबोधित करते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने जर्मनी की इस पेशकश का जिक्र किया, साथ ही स्वच्छ गंगा अभियान और स्वच्छ विद्यालय पहल में दिल खोलकर योगदान करने की अपील की। स्वच्छ विद्यालय का लक्ष्य प्रत्येक स्कूल में शौचालय उपलब्ध कराना है।

सुषमा ने कहा कि उनके जर्मन समकक्ष फैंक वाल्टर स्टेनमेयर ने उनके साथ दो घंटे तक चली बैठक के दौरान उत्तराखंड में गंगा की सफाई करने का प्रस्ताव किया।

सुषमा ने अपने जर्मन समकक्ष के साथ बातचीत के दौरान द्विपक्षीय संबंधों के सम्पूर्ण आयामों की समीक्षा की।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा, ‘‘ जर्मन विदेश मंत्री ने मुझे बताया कि आप गंगा को मां कहते हैं। हमने राइन नदी को साफ किया है। राइन पिता के समान हैं और गंगा मां हैं।’’ भारत के विकास में भारतीय समुदाय के हिस्सा बनने पर जोर देते हुए विदेश मंत्री ने कहा कि राजग की पूर्ण बहुमत की सरकार के सत्ता में आने के बाद से देश में जबर्दस्त बदलाव आया है। सुषमा ने कहा, ‘‘ मैं आप सबसे भारत के साथ जुड़ने और हमारी विकास की यात्रा का हिस्सा बनने का निमंत्रण देती हूं।’’

गंगा की सफाई को लेकर लंबे समय से कोशिशें जारी हैं। कई संगठनों ने भी सफाई का बीड़ा उठाया है।

यदि आपके पास है कोई दिलचस्प कहानी या फिर कोई ऐसी कहानी जिसे दूसरों तक पहुंचना चाहिए, तो आप हमें लिख भेजें editor_hindi@yourstory.com पर। साथ ही सकारात्मक, दिलचस्प और प्रेरणात्मक कहानियों के लिए हमसे फेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ें...